इश्क़ पर कविता | इश्क़ की दास्तां दोस्तों ये जो इश्क़ होता है इसकी बात कुछ अजीब होती है जो चाहता है की इससे दूर रहे वो उतना ही इसके पास खिचा आ जाता है |इसमें पड़ कर अच्छे-अच्छे अपनी सुध-बुध भूल जाते हैं |तो आइये अपनी इस पोस्ट”इश्क़ पर कविता | इश्क़ की