poem on friend in hindi | दोस्त पर एक कविता

poem on friend in hindi | दोस्त पर एक कविता:

दोस्तों हमारी यह पोस्ट poem on friend in hindi | दोस्त पर एक कविता  एक ऐसी कविता है जिसमे एक लड़का अपने दोस्त के साथ बिताए कुछ जीवन के अनुभवों को बता रहा है |

friends हम सभी के जीवन मैं एक ऐसा friend होता है जिसे हम जी -जान से चाहते हैं हम अपनी सभी personal से personal बात उस friend के साथ share कर लेते हैं जो कि और किसी से नहीं कह पाते | ऐसा friend  जो  हमें हमारी कमियाँ बताता है और हमारी हर problem को झट दूर भी कर देता है | बहुत ही खुशनसीब होते हैं वो लोग जिन्हे ऐसा friend मिल जाता है |

poem on friend in hindi | दोस्त पर एक कविता

 

तरस रहा था

जिस प्यार को

ए- दोस्त तूने

वो मुझे दिया

अपने भाई-बहन नहीं

 थे पर अच्छा हुआ

कि तू तो जीवन

में आ गया

जब खोया किसी

ऊलझन में तो तूने

झट से उसे दूर किया

जब खुश हुआ

मैं बहुत कभी

तो तू भी मेरे

संग नाच लिया

कभी पसंद ना आए

अपना टिफ़िन

तो तूने अपना

मुझे खिला दिया

होती है क्या यह

सब दुनियादारी

पग -पग साथ

चल के समझा दिया

फंस गया कभी

जो भीड़ में मैं

तो तूने बांह पकड़

के बचा लिया

जवानी के दहलीज़

पर हूँ अब फिर भी

बचपन मेरा नहीं गया

तूने ही साया बन

के मेरा हर दुख की

छाया से बचा लिया

पर पता नहीं था

मुझको कि जो अब

बन गया जीवन साथी

मेरा कभी था वो चाहत

READ  prakriti par kavita |hindi poem on nature

भी तेरी तूने हँसकर के

मुझे उसका हांथ थमा दिया

ए – दोस्त तेरा शुक्रिया

अब तू ही है मेरा खुदा

ए – दोस्त तेरा शुक्रिया

 

friends  अगर आपको हमारी यह पोस्ट poem on friend in hindi | दोस्त पर एक कविता पसंद आए तो अपने

विचार हम तक अवश्य पहुंचाएं |