one hindi sad song | thak gaya hun bhagte bhagte

one hindi sad song | thak gaya hun bhagte bhagte

 

थक गया हूँ भागते – भागते

झूठी खुशियों के पीछे

कुछ मुट्ठी में आया नहीं मेरे

सब बिखरा है रेत की तरह

थक गया हूँ भागते – भागते

क्या अपने क्या सपने सब ही है छूटे

हाँ जी रहा हूँ मैं तो बस गुमान में

क्या चाहा क्या पाया अब तक भी समझ ना आया

मिल पाएंगे अब क्या मुझे मेरे रास्ते

थक गया हूँ भागते – भागते

धुंदली इन राहों के पीछे

क्यों आया में इस चकाचौंध के जंजाल में

क्यों बांधा इस शान की बेड़ी को मैंने पाँव में

इससे अच्छी तो वो दुनिया थी

जहां सब थे और सुख की दो रोटियाँ थी

अब सुनिए इस one hindi sad song | thak gaya hun bhagte bhagte का YOUTUBE VERSION |

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *