Dussehra 2018 : दशहरे का महत्व और शायरी

Dussehra 2018 : दशहरे का महत्व और शायरी

दोस्तों आने वाली 19 0ct. को भारत का प्रसिद्ध त्योहार दशहरा आने वाला है |यह पूरे भारत में भिन्न-भिन्न रूपों में मनाया जाता है |इसका दूसरा नाम विजयदशमी भी है |इसे हर वर्ष अश्विन मास की दशमी वाले दिन मनाया जाता है |इस दिन औजारों की पूजा की जाती है|

इस दिन शमी नामक व्रक्ष की पूजा की भी मान्यता है|इस माह खरीफ की फसल भी तैयार को जाती है जिससे कृषक भी बहुत खुश होते हैं |सभी जगह हरियाली दिखाई देती है |इसी समय बंगाल में दुर्गा पूजा की जाती है|इस दिन कोई भी नया काम शुरू करने की भी मान्यता है क्योंकि यह दिन बहुत ही शुभ माना जाता है|

Dussehra 2018 : दशहरे का महत्व और शायरी

दशहरा कथा

भगवान राम ने अपनी पत्नी सीता को रावण से छुड़ाने के लिए दस दिन तक युद्ध किया था |रावण ने उन्हे अपनी सोने से बनी लंका में अपहरण करके रखा हुआ था |रावण बहुत बड़ा विदवानी और एक शिव भक्त था |रावण को अपनी शक्ति पर बहुत ही अहंकार था |इस युद्ध में भगवान राम का साथ हनुमान और उनकी वानर सेना ने दिया था |युद्ध के दसवे दिन श्री राम ने रावण की नाभि में प्रहार किया और तब वह मृत्यु को प्राप्त हुआ |इस दिन को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में माना जाता है |

दशहरे पर शायरी

यहाँ कुछ दशहरे पर शायरी दी गई हैं जिन्हे आप मित्रों को संदेश के रूप में भेज सकते हैं |

नाम है जिनका प्रभु श्री राम

रावण के अभिमान को किया तमाम

आओ मनाएँ हम पर्व विजयदशमी 

हो जाएगा हमारा भी कल्याण

आपको दशहरे की शुभकामनाएँ

 

 

सत्य कभी भी ना हारा है

और यह कभी ना हारेगा  

हर युग में आयेंगे प्रभु जब

पाप धरती पर अपार होगा

दशहरे की हार्दिक बधाई

 

चाहे जितना बड़ा हो नाम

यदि आयेगा उस में अभिमान

तब उसको सबक सिखाने को 

बनना पड़ेगा किसी को श्री राम

Happy vijaydashmi

 

आज सुंदर बेला है आई

मिली सत्य को जीत है भाई

घर -घर में दीपक जला के

सब ने विजयदशमी है मनाई

Happy dussehra

 

रह जाता है यहीं रखा

बल ,क्रोध ,अभिमान

हर युग में लिखता है

सत्य अपनी नई पहचान

आपको और आपके परिवार को विजयदशमी की अनेकों बधाई

 

तो दोस्तों यह थी हमारी dussehra 2018 based पोस्ट ,आशा करते हैं कि आपको अवश्य ही पसंद आयेगी |अपने विचार हम तक ज़रूर पहुंचायेँ और दोस्तों को भी ये शायरी भेजें |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *