मेहनत पर कविता “मेहनत का फल मिलता है “

मेहनत पर कविता “मेहनत का फल मिलता है “

दोस्तों पिछले कुछ दिन व्यस्त रहने के कारण हम नई  पोस्ट आप तक नहीं पहुंचा पाये परंतु अब धीरे- धीरे वक्त मिलने लगा है तो आगे आपको कोई शिकायत नहीं मिलेगी |अब शुरू करते  हैं हमारी यह पोस्ट मेहनत पर कविता”मेहनत का फल मिलता है,इस कविता के माध्यम से हम आपको मेहनत और उसके फल के बारे  में कुछ जानकारी दे रहे हैं |हमारी यह कविता खास कर विध्यार्थी और युवा वर्ग के लिए है ,जिस से कि उन्हे  प्रोत्साहित किया जा सके बस यह  ही हमारा छोटा सा प्रयास है |

मेहनत पर कविता "मेहनत का फल मिलता है "

मेहनत पर कविता ” मेहनत का फल मिलता है “

मेहनत का फल

मिलता है

एक ना एक

दिन तो ज़रूर

मेहनत करने

वालों की

कभी हुई ना हार

मेहनत करने

से तुम भी

डरना कभी नहीं

एक बार

जो डट के

किया इसे

तो होगा

स्वर्णिम भविष्य

मेहनत के बल

पर ही तो

बन गए

कुछ लोग

इतने महान

कभी जमीन

पर जो बैठे थे

आज सितारों पर

है उनके पाँव

छोटे  रास्ते

मत ढूंढो

मुड़ जाओ

कठिन से कठिन मार्ग

जब मंजिल

पर पहुँचोगे

बना पाओगे

अपनी एक पहचान

दोस्तों यदि आपको हमारी यह मेहनत से संबन्धित कविता अच्छी लगे तो कमेंट ज़रूर करें और  हमारे ब्लॉग

को यूं ही अपना प्रेम देते रहें |

READ  hindi poem on dog | पालतू कुत्ते पर एक कविता